in , , ,

चार एसिड अटैक सर्वाइवर्स की कहानी है “फ़िल्म ब्यूटी ऑफ़ लाइफ” आपको भी देखनी चाहिए

सिड अटैक जैसे अपराध न केवल शारीरिक आघात है बल्कि जिनके साथ ये घटनाएँ घटती है उसे भावनात्मक, मनोवैज्ञानिक और सामाजिक रूप से पूरी तरह तोड़ के रख देता है.

भारत जैसे देशों में एसिड अटैक एक ऐसा अनुचित व्यवहार है जहाँ आमतौर पर महिला एसिड अटैक सर्वाइवर्स से कोइ बात तक नहीं करना चाहता लेकिन उस समय उसे उस चीज़ की बहुत आवश्यकता होती है

हालांकि, ऐसे कई एसिड अटैक सर्वाइवर्स हैं, जिन्होंने इस तरह के अपराधों को कम करने या किसी भी तरह से एसिड अटैक सर्वाइवर्स का जीवन प्रभावित  न हो इसके लिए अलग अलग NGO बनाकर campaign कर के वो लोग काम कर रहे हैं

वैसे कोर्ट और कानून की नज़र में ऐसे मामले फास्ट- ट्रैक के रूप में माना जाता है लेकिन कई बार क़ानूनी दांव-पेंच व न्यायिक प्रक्रिया के कारन समय लग जाता है और उनके पास इसके अलावा और कोइ चारा भी नहीं होता है जहाँ से उसे तुरंत न्याय मिल सके और फिर वो इसे बीच में ही छोड़ देतें हैं.

फिर जब ये बचे-खुचे शरीर और चेहरे को लेकर नए सिरे से अपना जीवन शुरू करने के लिए निकलते हैं, तो उन्हें आलोचना मिलती है और समाज से अलगाव हो जाता है, जिससे उनकी आत्मा को गहरा आघात लगता है।

वहीँ यह फिल्म ब्यूटी ऑफ़ लाइफ चार एसिड अटैक सर्वाइवर्स की कहानियों को सामने लाती है जिसमें एक आदमी भी शामिल है। फिल्म में कुछ प्रेरणादायक कहानियों का प्रदर्शन भी किया गया है, आप देख सकते हैं कि एसिड अटैक सर्वाइवर होने की तुलना में उनमें कितना कुछ है। इसके अलावा एक पुरुष उत्तरजीवी है जो हमारे समाज के बदसूरत चेहरे का खुलासा करता है।

यह फिल्म उन बचे लोगों के बारे में बात करती है, जिन्होंने सभी बाधाओं के बावजूद शादी की। जिसमे मानवता का स्पर्श है, जो लोग अभी भी सोचते हैं कि प्रेम का कोई चेहरा नहीं है। उसमें एक दिल “ए ग्लोडन हार्ट” है, जो यह नहीं देखता है कि आप कितने बदसूरत या अव्यवस्थित दिखते हैं। आप अभी भी प्यार करने के लायक हैं।

यह ऐसे डॉक्यूमेंट्री फिल्म निर्माताओं का प्रयास है कि हम संभवतः एक मुख्य धारा सिनेमा “छपाक” देख सकें, जो एक एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी के जीवन पर आधारित फिल्म है। जो मनभावन और उत्साहपूर्ण प्रेरणादायक कहानी, और किसी के रोमांटिक अग्रिमों को खारिज करने के बाद एसिड हमलों के क्रूर परिणाम का यथार्थवादी चित्रण है।

इस फ़िल्म के निर्माता आशीष  कुमार है जिन्होंने ऐसे टॉपिक पर फ़िल्म बनाने का प्रयास किया है और समाज में एसिड अटैक जैसे मुद्दे को एक अलग रूप में दिखाने की कोशिश की है

कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके इस वृत्तचित्र को देखें

https://cinemapreneur.com/programs/beauty-of-life

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GIPHY App Key not set. Please check settings